राजस्थान ग्रामीण गौरव पथ योजना|Rajasthan Gramin Gaurav Path Scheme

ग्रामीण गौरव पथ स्कीम इन राजस्थान|राजस्थान ग्रामीण गौरव पथ योजना|Rajasthan Gramin Gaurav Path Scheme in Hindi

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं हम आपको सरकारी योजनाओं से अवगत करवाते हैं आज हम आपको राजस्थान की ग्रामीण गौरव पाठ योजना के बारे में बताने जा रहे हैं कि इस योजना में क्या-क्या होता है तथा गांव को इसका लाभ किस प्रकार से प्राप्त होगा इसकी पूरी जानकारी हम आपको अपने आर्टिकल में देंगे|

गाँवों में आवागमन को आसान करने के लिए सरकार द्वारा हर ग्राम पंचायत में ग्रामीण गौरव पथों का निर्माण करवाया जा रहा है। गाँवों में जहां आम रास्तों पर गड्ढ़ों वाले कच्चे रास्ते थे वहीं सरकार ने इन रास्तो में सीमेंट व कंकरीट की सड़कों का निर्माण करवा दिया है। ग्रामीण गौरव पथ कही जाने वाली ये सड़कें आज गाँवों का गौरव हैं।

ग्रामीण गौरव पथ योजना

सरकार द्वारा राज्य की सभी 9894 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर चरणबद्ध रूप से ग्रामीण गौरव पथों का निर्माण किया जा रहा है। सरकार द्वारा प्रथम बजट में ही इन ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण की घोषणा कर दी गई थी।

राज्य में इस साल सड़कों को लेकर  सरकार ने कई कदम उठाये है । इसके लिए राज्य सरकार ने विभिन्न योजनाओँ में 7,359 किमी सड़के बनाने का लक्ष्य प्रस्तावित किया था। इस लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान सरकार ने प्रदेश के कई जिलों में करीब 4000 किमी में सड़कों का जाल बिछाकर गांवों औऱ शहरों को जोड़ने का कार्य किया है।

राजस्थान ग्रामीण गौरव पथ योजना  के लाभ

हर पंचायत में ग्रामीण गौरव पथ

सरकार द्वारा राज्य की सभी 9894 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर चरणबद्ध रूप से ग्रामीण गौरव पथों का निर्माण किया जा रहा है। सरकार द्वारा प्रथम बजट में ही इन ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण की घोषणा कर दी गई थी।

गांववासियों का आवागमन हुआ आसान

ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण से गांववासियों का स्कूल, अस्पताल, मंदिर, चैपाल, खेत, पास के गावों, कस्बों में जाना-आना आसान हो गया है।

‘राजस्थान राज्य राजमार्ग अधिनियम’ लागू

सरकार ने राज्य राजमार्गों का विकास करने के लिए मई 2015 में ‘राजस्थान राज्य राजमार्ग अधिनियम’ लागू किया। राज्य में पीपीपी से 14 राज्य राजमार्गों यानि स्टेट हाइवेज़ के विकास का काम चालू हो चुका है। 805 किलोमीटर के इन राजमार्गों का निर्माण लगभग 1 हज़ार 7 सौ पचास करोड़ रुपयों की लागत से होगा।

इसके अतिरिक्त पिछले 3 वर्षों में 5 हज़ार किलोमीटर से ज़्यादा लम्बाई के राजमार्गों का विकास विभिन्न योजनाओं में किया गया।

गांव और ढाणियां जुड़ी सड़कों से

वहीं राज्य के दूर-दराज तक के गांवों और ढाणियों को सड़कों से जोड़ने के लिये सरकार ने 3 वर्षों में विभिन्न योजनाओं में साढ़े 15 हज़ार किलोमीटर से ज़्यादा लम्बाई की सड़कों का निर्माण किया है। इन सब प्रयासों से 4 हज़ार 3 सौ से ज़्यादा गांव और ढाणियों को सड़कों से जोड़ा जा चुका है। इनके अलावा 6 हज़ार से अधिक नई सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है।

ग्रामीण गौरव पथ योजना राजस्थान की ज्यादा जानकारी के लिए साइट पर क्लिक कर सकते हैं

दोस्तों यदि आपको ग्रामीण गौरव पथ योजना राजस्थान से संबंधित कोई और जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर करना ना भूलें|

6 comments

  • Kewalram

    good sir

    Reply
  • गजेन्द्र सिंह नेहरा

    स्कीम की गाईड लाईन व बजटीय प्रावधान

    Reply
    • Arti

      gajendra ji हर पंचायत में ग्रामीण गौरव पथ
      सरकार द्वारा राज्य की सभी 9894 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर चरणबद्ध रूप से ग्रामीण गौरव पथों का निर्माण किया जा रहा है। सरकार द्वारा प्रथम बजट में ही इन ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण की घोषणा कर दी गई थी।

      गांववासियों का आवागमन हुआ आसान
      ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण से गांववासियों का स्कूल, अस्पताल, मंदिर, चैपाल, खेत, पास के गावों, कस्बों में जाना-आना आसान हो गया है।

      ‘राजस्थान राज्य राजमार्ग अधिनियम’ लागू
      सरकार ने राज्य राजमार्गों का विकास करने के लिए मई 2015 में ‘राजस्थान राज्य राजमार्ग अधिनियम’ लागू किया। राज्य में पीपीपी से 14 राज्य राजमार्गों यानि स्टेट हाइवेज़ के विकास का काम चालू हो चुका है। 805 किलोमीटर के इन राजमार्गों का निर्माण लगभग 1 हज़ार 7 सौ पचास करोड़ रुपयों की लागत से होगा।

      गांव और ढाणियां जुड़ी सड़कों से
      वहीं राज्य के दूर-दराज तक के गांवों और ढाणियों को सड़कों से जोड़ने के लिये सरकार ने 4 वर्षों में विभिन्न योजनाओं में 22 हज़ार किलोमीटर से ज़्यादा लम्बाई की सड़कों का निर्माण किया है। इन सब प्रयासों से 5 हज़ार 5 सौ से ज़्यादा गांव और ढाणियों को सड़कों से जोड़ा जा चुका है। इनके अलावा 6 हज़ार से अधिक नई सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है।

      Reply
  • Diwakar kherwal

    चुरू जिले की रतनगढ़ तहसील में पिछले 15 सालों में इस योजना में कितने कार्य हुए और इन कार्यों के लिए बजट को देता है

    Reply
    • Arti

      diwalar ji हर पंचायत में ग्रामीण गौरव पथ
      सरकार द्वारा राज्य की सभी 9894 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर चरणबद्ध रूप से ग्रामीण गौरव पथों का निर्माण किया जा रहा है। सरकार द्वारा प्रथम बजट में ही इन ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण की घोषणा कर दी गई थी।

      गांववासियों का आवागमन हुआ आसान
      ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण से गांववासियों का स्कूल, अस्पताल, मंदिर, चैपाल, खेत, पास के गावों, कस्बों में जाना-आना आसान हो गया है।

      ‘राजस्थान राज्य राजमार्ग अधिनियम’ लागू
      सरकार ने राज्य राजमार्गों का विकास करने के लिए मई 2015 में ‘राजस्थान राज्य राजमार्ग अधिनियम’ लागू किया। राज्य में पीपीपी से 14 राज्य राजमार्गों यानि स्टेट हाइवेज़ के विकास का काम चालू हो चुका है। 805 किलोमीटर के इन राजमार्गों का निर्माण लगभग 1 हज़ार 7 सौ पचास करोड़ रुपयों की लागत से होगा।

      गांव और ढाणियां जुड़ी सड़कों से
      वहीं राज्य के दूर-दराज तक के गांवों और ढाणियों को सड़कों से जोड़ने के लिये सरकार ने 4 वर्षों में विभिन्न योजनाओं में 22 हज़ार किलोमीटर से ज़्यादा लम्बाई की सड़कों का निर्माण किया है। इन सब प्रयासों से 5 हज़ार 5 सौ से ज़्यादा गांव और ढाणियों को सड़कों से जोड़ा जा चुका है। इनके अलावा 6 हज़ार से अधिक नई सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है।

      Reply
  • Beni gopal

    गौरव पथ योजना सड़क की चौड़ाई कितनी होती है

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!